Connect with us

बजरंग पुनिया ने 7 साल की उम्र में शुरू कर दी थी कुश्ती, अब तक कई मेडल कर चुके हैं अपने नाम

Latest

बजरंग पुनिया ने 7 साल की उम्र में शुरू कर दी थी कुश्ती, अब तक कई मेडल कर चुके हैं अपने नाम

पहलवान बजरंग पुनिया ने टोक्यो ओलंपिक 2020 में पुरुष फ्रीस्टाइल के 65 किलोग्राम वर्ग में कांस्य पदक जीता है। उन्होंने कांस्य पदक के मैच में कजाकिस्तान के दौलत नियाजबेकोव को 8-0 से हराया है। बजरंग पुनिया को हरियाणा सरकार 2.5 करोड़ का नकद इनाम देगी। वहीं सरकारी नौकरी और HSVP में कंसेशनल रेट पर प्लॉट दिया जाएगा। इसके अलावा उनके गांव खुडन में इंडोर रेसलिंग स्टेडियम बनाया जाएगा।

बजरंग पुनिया ने सात साल की उम्र में कुश्ती शुरू कर दी थी। वह हरियाणा राज्य के झज्जर जिले के खुदान गांव में एक ग्रामीण पृष्ठभूमि के परिवार से ताल्लुक रखते हैं। चूंकि बजरंग का जन्म एक साधारण परिवार में हुआ था, इसलिए उन्हें अपने शुरुआती दिनों में कई आर्थिक कठिनाइयों का सामना करना पड़ा। लेकिन यह उनके मित्र और गुरु प्रसिद्ध पहलवान योगेश्वर दत्त थे जिन्होंने हमेशा उनका समर्थन किया।

व्यक्तिगत विवरण:

जन्म तिथि: 26 फरवरी, 1994

गृह स्थान: सोनीपत, हरियाणा

खेल: कुश्ती

प्रशिक्षण शिविर: साई एनआरसी सोनीपत

व्यक्तिगत कोच: एमजारियोस बेंटिनिडिस

राष्ट्रीय कोच: जगमंदर सिंह

उपलब्धियां

विश्व चैम्पियनशिप -1 रजत और 2 कांस्य पदक

एशियाई चैम्पियनशिप – 2 स्वर्ण, 3 रजत, 2 कांस्य पदक

एशियाई खेल – 1 स्वर्ण और 1 रजत पदक

राष्ट्रमंडल खेल- 1 स्वर्ण और 1 रजत पदक

सरकार से मिली प्रमुख मदद

● ओलंपिक खेलों के लिए रूस में तैयारी प्रशिक्षण शिविर

● अपने सपोर्ट स्टाफ के साथ मिशिगन, अमेरिका में दो महीने के लिए प्रारंभिक प्रशिक्षण शिविर

● सीनियर वर्ल्ड चैंपियनशिप 2019 (क्वालीफिकेशन इवेंट) से पहले अमेरिका, रूस और जॉर्जिया में तैयारी प्रशिक्षण शिविर

● अली अलाइव, त्बिलिसी जीपी, एशियाई चैंपियनशिप, यारडोगु और माटेओ पेलिकोन रैंकिंग टूर्नामेंट में भागीदारी जो टॉप्स और एसीटीसी द्वारा प्रदान की गई थी

● लॉकडाउन के दौरान सप्लीमेंट्स और मैट (कोविड)

● खेल एस एंड सी उपकरण

● मुकाबले वाले भागीदारों के तौर पर अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियों के लिए युवा मामले एवं खेल मंत्रालय और विदेश मंत्रालय के माध्यम से वीजा संबंधी मदद

● ओलंपिक की तैयारी की खातिर रूस जाने के लिए बजरंग और सपोर्ट टीम को वीजा की सुविधा

● राष्ट्रीय शिविरों में व्यक्तिगत कोच और सपोर्ट स्टाफ को शामिल करना

कोच (प्रशिक्षकों) का विवरण:

ग्रासरूट लेवल: वीरेंदर

डेवलपमेंट लेवल: रामपाल

एलीट लेवल: जगमंदर सिंह/एमजारियोस बेंटिनिडिस

Facebook Comments Box
What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top