Connect with us

दुबई एयरपोर्ट पर फेस रिकग्निशन टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल शुरू, अब चेहरा ही होगा पासपोर्ट!

Dubai Airport

Side Story

दुबई एयरपोर्ट पर फेस रिकग्निशन टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल शुरू, अब चेहरा ही होगा पासपोर्ट!

दुबई भारतीय पर्यटकों के लिए पसंदीदा पर्यटन स्थल है। प्रतिवर्ष लाखों भारतीय पर्यटक दुबई घूमने जाते हैं। ऐसे में अगर आप दुबई जाने की सोच रहे हैं तो आप दुबई एयरपोर्ट पर चेक इन के लिए शुरू की गई नई व्यवस्था के बारे में जान लें। दरअसल, यहां एयरपोर्ट अथॉरिटी ने लेटेस्ट फेस रिकग्निशन टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल शुरू कर दिया है जिसे ”बायोमैट्रिक पैसेंजर जर्नी” का नाम दिया गया है।

जेब में पासपोर्ट होना जरूरी होगा

पैसेंजर जब दुबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर पहुंचेंगे तो फेस और आईरिस रिकग्निशन के जरिए चेक इन किया जाएगा। यह महज एक बार ही होगा और भविष्य के लिए डेटा कलेक्ट हो जाएगा। इसके बाद यात्री जितने भी स्मार्ट गेट्स से होकर गुजरेंगे, उन सभी पर बायोमैट्रिक टेक्नोलॉजी का डेटा मैच होगा और गेट खुलते जाएंगे। इसके लिए आपकी जेब में पासपोर्ट होना जरूरी होगा।

Face recognition technology started to be used at Dubai Airportकेवल 9 सेकंड में होगी यात्री की पहचान

वहीं बिजनेस लाउंज में जाने के लिए बोर्डिंग पास दिखाने की जरूरत नहीं होगी। केवल फेस रिकग्निशन से गेट खुल जाएंगे और पैसेंजर यहां पहुंच सकेंगे। आंखों की पुतलियों यानी आयरिश के जरिए पैसेंजर का आइडेंटिफिकेशन किया जा रहा है। इन दोनों के इस्तेमाल से ही पहचान पूरी करने की प्रक्रिया में केवल 9 सेकंड का समय लग रहा है। इस प्रोजेक्ट को बायोमैट्रिक पैसेंजर जर्नी का नाम दिया गया है।

122 स्मार्टगेट से होकर गुजरेंगे पैसेंजर

कोरोना महामारी के दौर में कॉन्टेक्ट फ्री जर्नी जरूरी है। अब पैसेंजर एयरलाइंस स्टाफ के सम्पर्क में नहीं आएंगे। इसके लिए 122 स्मार्टगेट बनाए गए हैं जिस पर ज्यादा से ज्यादा 9 सेकंड में पहचान की प्रक्रिया पूरी हो रही है।

Facebook Comments Box
What’s your Reaction?
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top