Connect with us

चाय के शौकीन लोगों के लिए अच्छी खबर, जल्द बाजार में आएगी चाय की टैबलेट | Tea Tablets

Tea in office photo

AGRICULTURE

चाय के शौकीन लोगों के लिए अच्छी खबर, जल्द बाजार में आएगी चाय की टैबलेट | Tea Tablets

चाय पीने के शौकीन लोगों के लिए अच्छी खबर आई है। अब चाय बनाने में समय नहीं लगेगा, महज कुछ ही सेकेंड में चाय तैयार हो जाएगी। दरअसल, असम के टोकलाई टी रिसर्च सेंटर (Tocklai Tea Research Institute) ने चाय की टेबलेट तैयार की है। साथ ही रिसर्च सेंटर ने लिक्विड फॉर्म में भी चाय तैयार की है, जो कुछ ही समय में तैयार हो जाएगी। इसके लिए गर्म पानी में लिक्विड को मिलाना है और चाय तैयार हो जाती है। टैबलेट और लिक्विड बिना किसी केमिकल के शुद्ध रूप से चाय है।

Tea tablets in marketदेश में चाय के शौकीनों की कमी नहीं

देश में चाय के शौकीनों की कमी नहीं है। इस बात का अंदाजा कोरोना काल में चाय की औसत खपत से लगाया जा सकता है। इस अवधि में चाय की खपत बढ़कर 10 गुना ज्यादा हो गई है। ऐसे में चाय तैयार होने में लगने वाले समय को ध्यान में रखते हुए चाय की टेबलेट (Tea Tablets) को तैयार किया गया है। वैसे आमतौर पर चाय बनाने में लगभग 10 मिनट का समय लग जाता है, लेकिन चाय के टेबलेट से यह समय घटकर महज 10 सेकेंड हो गया है। ऐसे में अब आप चाय की पत्ती या चाय के टी-बैग के बजाए चाय के टैबलेट का सेवन करते नजर आएंगे।

Research on teaकोरोना वायरस से लड़ने में चाय की अहम भूमिका

बता दें कोरोना से लड़ने में असम की चाय एक बड़ी भूमिका निभा सकती है। मार्च 2021 में ‘टोकलाई टी रिसर्च सेंटर’ की रिपोर्ट बतलाती है कि असम की ब्लैक टी में ऐसे कम्पाउंड पाए जाते हैं जो शरीर में कोरोनावायरस के प्रसार को ब्लॉक कर देते हैं। साथ ही ब्लैक टी इम्यूनिटी बूस्टर (Black Tea Immunity Booster ) का भी काम करती है। यदि एक व्यक्ति दिन में चार से पांच कप ब्लैक टी पीता है तो यह उसके शरीर की इम्यूनिटी बढ़ाने में काफी मदद करेगा। ब्लैक टी (Research on Black Tea) पर की गई हाल ही की रिसर्च से यह बात सामने आती है कि आने वाले समय में यदि इसे और अधिक डेवलप किया जाए तो कोरोना वायरस से लड़ने में ब्लैक टी एक बड़ी भूमिका निभा सकती है।

Green tea leavesचाय के टेबलेट बनने से लोगों को होगी सहूलियत

चाय के टेबलेट और लिक्विड चाय (Liquid Tea) तैयार होने से सफर के दौरान लोगों को चाय के लिए भटकना नहीं पड़ेगा, क्योंकि चाय आपके साथ रहेगी। वहीं दुर्गम स्थानों में तैनात सेना के जवानों के लिए भी इससे काफी सहूलियत होगी। इससे चाय की खेती करने वालों को भी काफी फायदा होगा। चाय के ऐसे नए इनोवेशन ही चाय बाजार में क्रांति ला सकते हैं और उनकी आय में काफी इजाफा हो सकता है।

Facebook Comments Box
What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top