Connect with us

देशभक्ति से भरपूर शहीद भगत सिंह के कुछ क्रांतिकारी विचार | Bhagat Singh Quotes

Bhagat singh thoughts

MOTIVATION

देशभक्ति से भरपूर शहीद भगत सिंह के कुछ क्रांतिकारी विचार | Bhagat Singh Quotes

भगत सिंह भारत के एक महान स्वतंत्रता सेनानी क्रांतिकारी थे। उनका जन्म 28 सितंबर 1907 में हुआ था! भगत सिंह ( Bhagat Singh ) ने भारत की स्वतंत्रता के लिए अभूतपूर्व साहस के साथ शक्तिशाली ब्रिटिश सरकार का डटकर मुकाबला किया। भगत सिंह ने राजगुरु के साथ मिलकर लाहौर में सहायक पुलिस अधीक्षक रहे अंग्रेज अधिकारी जेपी सांडर्स को मारा था। वहीं उन्होंने दिल्ली की केंद्रीय संसद (सेंट्रल असेंबली) में बम विस्फोट करके ब्रिटिश साम्राज्य के विरुद्ध खुले विद्रोह का ऐलान किया था। बम फेंकने के बाद वहीं पर उन्होंने अपने साथी बटुकेश्वर दत्त के साथ अपनी गिरफ्तारी दी। जिसके बाद 23 मार्च 1931 को महान क्रांतिकारी भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव को फांसी दी गई।

Bhagat singh image

Shaheed Bhagat Singh Quotes in Hindi | Bhagat Singh Life Story

पढ़ें देशभक्ति से भरपूर शहीद भगत सिंह के कुछ क्रांतिकारी विचार |  Shaheed Bhagat Singh Quotes:

> व्यक्तियों को कुचलकर भी आप उनके विचार नहीं मार सकते हैं।

> निष्ठुर आलोचना और स्वतंत्र विचार, ये दोनों क्रांतिकारी सोच के दो अहम लक्षण हैं।

> आम तौर पर लोग चीजें जैसी हैं उसी के अभ्यस्त हो जाते हैं। बदलाव के विचार से ही उनकी कंपकंपी छूटने लगती है। इसी निष्क्रियता की भावना को क्रांतिकारी भावना से बदलने की दरकार है।

> वे मुझे कत्ल कर सकते हैं, मेरे विचारों को नहीं। वे मेरे शरीर को कुचल सकते हैं लेकिन मेरे जज्बे को नहीं।

> यदि बहरों को सुनना है तो आवाज को बहुत जोरदार होना होगा। जब हमने बम गिराया तो हमारा ध्येय किसी को मारना नहीं था।

> पिस्तौल और बम क्रांति नहीं लाते, बल्कि इंकलाब की तलवार विचारों की सान पर तेज होती है।

Facebook Comments Box
What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
1
+1
2
+1
1
+1
1
+1
2
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top