Connect with us

मजदूर ने घर में लगाई एलईडी बल्ब की फैक्टरी, कई लोगों को दिया रोजगार

LED Bulb factory at home 

Side Story

मजदूर ने घर में लगाई एलईडी बल्ब की फैक्टरी, कई लोगों को दिया रोजगार

जो कभी मजदूरी का काम करता था आज उसने अपनी फैक्टरी लगा ली। ये कहानी है बिहार में बेतिया जिले के एक युवक प्रमोद की। प्रमोद पहले दिल्ली में एलईडी बल्ब की फैक्टरी (LED Bulb Factory) में बतौर टेक्नीशियन काम करता था। लेकिन कोरोना काल में घर लौट गया। घर लौट कर प्रमोद नौकरी को लेकर काफी चिंतित था। जिसके बाद अपने हुनर और आत्मविश्वास के साथ उसने अपने घर में ही एलईडी बल्ब बनाने की एक फैक्टरी लगा ली।

फैक्टरी लगाने के लिए नहीं था पर्याप्त पैसा

फैक्टरी लगाने के लिए प्रमोद के पास पर्याप्त पैसा नहीं था जिसके लिए उन्होंने कुछ लोन लिया, साथ ही दोस्तों ने भी उनकी मदद की। उन्होंने 3 लाख 50 हजार रुपए की लागत से बल्ब फैक्ट्री लगाई है। जिसमें वो अब कई लोगों को रोजगार दे रहे हैं।

LED Bulb factory at home  |  LED Bulb Business दिन में 1000 बल्ब करते हैं तैयार

प्रमोद प्रतिदिन करीब 1000 एलईडी बल्ब (LED Bulb) बनाकर तैयार करते हैं और आसपास की दुकानों में बल्ब की सप्लाई करते हैं। प्रमोद का कहना है कि मार्केट से 5000 बल्ब की प्रतिदिन डिमांड है, लेकिन पूंजी के अभाव में अभी वह महज एक हजार बल्ब रोजाना बना पाते हैं। इससे बाजार का ऑर्डर पूरा नहीं हो पाता। प्रमोद के मुताबिक एलईडी बल्ब (LED Bulb Making Cost) बनाने में उनको 12 रुपये की लागत आती है। बाजार में इसे 15 से 20 रुपये में बेचा जा सकता है।

पत्नी और दोस्तों ने की मदद

प्रमोद के इस कारोबार में उनकी पत्नी भी साथ देती हैं। साथ ही उन्हें दोस्तों का भी साथ मिला है। जब फैक्टरी लगाने के लिए पैसों की कमी आई तो प्रमोद की पत्नी संजू देवी ने अपने पति का पूरा साथ दिया। उन्होंने स्वयं सहायता समूह से 25,000 लोन ले लिया। प्रमोद के मुताबिक इस बिजनेस (LED Bulb Business) में काफी मुनाफा है और बल्ब की डिमांड भी हमेशा मार्केट में बनी रहती है।

Facebook Comments Box
What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top